उत्तरकाशी जिलाधिकारी ने किया बड़ा ऐलान,सरकारी चिकित्सकों का होगा सम्मान

उत्तरकाशी-  जिला अस्पताल में एचएमआईएस कम्प्यूटरीकरण से डाक्टरों द्वारा मरीजों की दवा लिखी जायेगी’ यह बात जिलाधिकारी डा0 आषीश चौहान ने जिला चिकित्सा प्रबंन्धन समिति की बैठक में कही। बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने जिला चिकित्सालय एवं जिला महिला चिकित्सालय के अधिकारियों से कहा कि जनता की दुख-दर्द को दूर करने में योगदान दें।

वहीं उन्होने ऐलान किया कि  अस्पताल में सक्रियता एवं नियमित कार्य करने वाले डॉक्टरों को 26 जनवरी को सम्मानित किया जायेगा। उनके कोट में विषेश चिन्ह लगाये जायेगे। इससे जहां जनता के मन में उन चिकित्सकों के प्रति सम्मान जागेगा वहीं दूसरे लोग उनसे अच्छे कार्य करने की प्रेरणा ले सकेंगे।

वहीं  जिलाधिकारी डा0 चौहान ने प्रबंधन समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अस्पताल के लेखा कर्मियों को कहा कि ईमानदारी से काम करें , लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वहीं उन्होंने जन औषधि केन्द्र के लिए दोबारा से विज्ञापन देने के निर्देश दिये। जहां पुराने निष्क्रिय वाहनों को नीलाम करने की सलाह दी वहीं  पार्किग के निर्माण होने पर पार्किग षुल्क लेने की बात भी कही।

मरीजों हेतु रजाई एवं खोल खरीदने की मांग पर जिलाधिकारी ने वरिष्ठ कोषाधिकारी को निरीक्षण कर अवगत कराने के निर्देष दिये। जबकि डॉक्टर कालोनी के मुख्य गेट, मुख्य भवन की छत के बोर्डर तथा महिला अस्पताल के पीछे लोहे की सीडी निर्माण हेतु प्राकलन देने के निर्देष दिए।

वहीं  जिलाधिकारी ने सीएमएस को निर्देश दिये कि महिला अस्पताल भवन की डीपीआर प्रेषित की जाए और  भवन में लिफ्ट न लगाये जाने पर  संबंधित के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज करवाई जाए। जिला अस्पताल में टेली मेडिसीन की हॉल हेतु जिलाधिकारी ने कहा कि उक्त कक्ष में स्कैनर भी स्थापित किये जायेगे। जिससे लिंकप हुए उच्चकृत अस्पताल के विषेशज्ञों को संबंधित मरीज की रिपोर्ट भेजी  जा सकें।

वहीं जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में टेली मेडिसीन के तहत दुर्गम एवं गरीब लोगो को अपने नजदीकीय टेली मेडिसीन कक्ष में सही उपचार किया जाने के साथ संबंधित रोग के प्रति डाक्टरों द्वारा उपचार हेतु सही जानकारी भी दिया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि जिला चिकित्सालय में एचएमआईएस के तहत डाक्टरों की कम्प्यूटर को दवाखाना और रिपोर्ट कक्षों से जोडा जायेगा, जिससे डॉक्टरां रोगी की दवा कम्प्यूटर में दर्ज करते ही संबंधित दवा काउन्टर में  डिस्प्ले होगी और  मरीज को आसानी से दवा मिल सकेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि इस व्यवस्थाओं में सुधार के साथ दवा वितरण प्रणाली में पारदर्शिता आएगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here