उत्तराखंड : मेट्रो परियोजना को लेकर विदेश दौरा, कई BJP विधायकों की पत्नियां भी जाएंगी साथ

देहरादून(मनीष डंगवाल)- उत्तराखंड में लम्बे समय से मेट्रो परियोजना को धरातल पर उतारने के लिए प्रदेश सरकार कोशिश कर रही है लेकिन कैसे मेट्रो रेल परियोजना को सरकार धरातल पर उतारेगी…इसे लेकर भी उलझन बनी हुई,लेकिन इस उलझन को दूर करने के लिए सरकार ने एक दल बनया है जो विदेश दौरा कर ये समझने की कोशिश करेगा कि कैसे मेट्रो परियोजना को धरातल पर उतारा जाए। देहरादून-हरिद्धार-ऋषिकेश के बीच मेट्रो परियोजना के साथ एलआरटी प्रणाली लागू करने, देहरादून और हरिद्धार के बीच पीआरटी एवं रोपवे प्रणाली को माॅस रैपिट ट्रान्जिट के तौर पर लागू करने के लिए ये दल दो देशों का दौरा करेगा।

मदन कौशिक के नेतृत्व में होगी विदेश यात्रा

मेट्रो परियोजना को धरालत पर उतारने लिए विदेशों में चल रही मैट्रो परियोजनाओं का भ्रमण करने के लिए जो दल बनाया गया है, वह शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के नेतृत्व में भ्रमण करेगा। उस दल में कांग्रेस के विधायक मनोज रावत, बीजेपी के विधायक सुरेंद्र सिंह जीना,पुरन सिंह फर्तीयाल,चंदन राम दास, आदेश चौहान भी मौजूद रहेंगे।

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह भी दल के साथ इग्लैण्ड में साथ रहेंगे

वहीं मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, मुख्यमंत्री की सचिव राधिका झा, आवास सचिव नितेश झा, मेट्रो रेलवे काॅरपोरेशन के एमडी जितेंद्र त्यागी और मेट्रो रेलवे काॅरपोरेशन के मुख्य अभियन्ता नत्था सिंह रावत मौजूद रहेंगे। दल में कांग्रेस के विधयाक करण सिंह माहरा भी जाएंगे जिनका नाम अंतिम समय में फाइनल हुआ…हालांकि करण माहरा का नाम देरी से फाइनल होने के चलते वह केवल इंलैण्ड का ही दौरा कर पाएंगे,वहीं मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह भी दल के साथ इंग्लैण्ड में साथ रहेंगे।

दो देशों का होगा भ्रमण

मेट्रो परियोना को लेकर शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के नेतृत्व में जो दल लंदन और जर्मनी दो देशों की सैर पर जाएगा,वह कल देहरादून से रवाना हो जाएगा…7 अगस्त को दिल्ली से दल इंग्लैण्ड के लिए रवाना होगा…वहीं 11 अगस्त से 14 अगस्त तक दल जर्मनी की मेट्रो परियाजनाओं का निरिक्षण करेगा।

इन परियोजनाओं को निरीक्षण करेगा दल

मेट्रो परियाजना को धरातल पर उतारने के लिए विदेश दौरे पर जा रहा दल तीन परियोजनओं को निरक्षण करेगा। जिसमें इंग्लैण्ड में दो परियोनाओं का निरीक्षण होगा तो जर्मनी में एक परियोजना का निरीक्षण होगा।

पर्सनलाइज रैपिड ट्रांजिट सिस्टम को समझेगा दल

पर्सनलाइज रैपिड ट्रांजिट सिस्टम इंग्लैण्ड में मेट्रो परियोजना की तर्ज पर चलती है,जो ड्राइवर लैस है…इसी परियोजना का दल सबसे पहले निरीक्षण करेगा और ये समझने की कोशिश करेगा कि उत्तराखंड के शहरों में ये कितना कारगर साबित हो सकता है…5 से 6 लोग इसमें एक बार में सफर कर सकते हैं, हर 1 किलोमीटर पर इसके स्टेशन बने होते है।

लंदन ट्यूब मेट्रो का भी निरीक्षण

लंदन ट्यूब मेट्रो के नाम से प्रसिद्ध मेट्रो परियोजना दिल्ली मेट्रो की तर्ज पर है,जिसका मुअयाना भी दल करेगा।

लाईट रैपिड ट्रांजिट पर भी फोकस

लाईट रैपिड ट्रांजिट मेट्रो परियोजना जर्मनी में है…जिसका निरीक्षण भी दल करेगा,इस परियोजना की खास बात ये है कि मोड़ों पर यह मैट्रो आसानी से मुड़ सकती है औऱ साथ ही एक घण्टे में 20 हजार यात्री इसमें सफर कर सकते हैं।

बीजेपी विधायाकों की पत्नियां भी होंगी साथ में

यूं तो बीजेपी के 4 विधायक और सरकार में कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के तौर पर सत्ता पक्ष के कोटे से विदेश दौरे पर जा रहे हैं लेकिन बीजेपी के चारों विधायकों की पत्नियां भी उनके साथ इस विदेश दौरे में मौजूद रहेंगी। खबर उत्तराखंड को मिली जानकारी के अनुसार इसके लिए बीजपी विधायाकों ने अपनी पत्नियों का वीजा भी तैयार करवा दिया है। बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह जीना, आदेश चैहान, चंदन राम दास और पूरन सिंह ने अपनी पत्नियों को दौरे में साथ ले जाने का निर्णय लिया है।

पत्नियों का खर्चा विधायकों को उठाना होगा

मेट्रो परियोजना को धरातल पर उतारने के लिए जो दल दो देशों की विदेश यात्रा पर जा रहा है,उसका पूरा खर्चा मैट्रो रेलवे काॅरपोरेशन उठाएगा…लेकिन जब खबर उत्तराखंड ने विधायकों की पत्नियों के खर्चे को लेकर विधायकों और मेट्रो रेलवे काॅरपोरेशन के अधिकारियों से जानकारी तौर पर सवाल किया तो यही जवाब दोनों ओर से आया कि जिन विधायकों की पत्नियां विदेश दौरे पर इस टूर में जा रही है उनका खर्चा खुद विधायकों को उठाना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here