उत्तराखंड-अगर PM मोदी के अभियानों की खिल्ली उड़ती देखनी है तो इस तहसील परिसर में आकर देखें

हरिद्वार(गोविंद सिंह-लक्सर) पीएम मोदी के स्वच्छ भारत अभियान और खुले शौच से मुक्त अभियान की अगर किसी ने खिल्ली उड़ती देखनी है तो वो लक्सर के तहसील परिसर जाएं और देखे पीएम मोदी के अभियानों की कैसे खिल्ली उड़ाई जा रही है. आलम ये है कि गंदगी तो छोड़िए महिला शौचालय में दरवाजा तक नहीं है. तो वहीं जिम्मेदार अधिकारियों ने आंखें मूंद रखी है. लकसर जहां पूरे जनपद हरिद्वार में स्वच्छता को लेकर डंका बजाया जा रहा है. वही लक्सर तहसील परिसर में इसकी धज्जियां उड़ाई जा रही है

जी हां हम हाल बता रहे हैं लकसर तहसील परिसर का. जहां जनता अपने विभिन्न कार्यों के लिए आती रहती है. उनके कार्यों के निस्तारण के लिए तहसील कर्मियों सहित अधिवक्ताओं का भी जमावड़ा पूरे दिन रहता है. प्रतिदिन लगभग हजारों की संख्या में आने वाले लोगों के शौच के लिए तहसील परिसर के अंदर महिला-पुरुष दो शौचालय बने हैं.

महिला शौचालय में पानी तो छोड़िए दरवाजा तक नहीं

जिनको देखने से लगता है कि शायद ही कभी इनकी सफाई की गई हो. शौचालय की हालत इस कदर बिगड़ी है जैसे मानों लग रहा है कि कई वर्षों पहले इनकी सफाई करनी छोड़ दी गई हो.अब आने वाले लोगों को शौच के लिए बाहर ही जाना पड़ रहा है। आलम यह है महिला शौचालय में पानी से लेकर दरवाजा तक नहीं है। देखने से लगता है कि वर्षों से सफाई की ओर शायद ही किसी ने आंख उठाई हो. शौचालय के भीतर हिस्से में गंदगी ने अपना साम्राज्य स्थापित कर रखा है लेकिन अधिकारी इस पर मौन बने हुए हैं।

परिसर में गंदगी का अंबार के साथ जगह जगह कूड़े के बड़े-बड़े ढेर

अगर बात की जाए साफ सफाई की तो पूरे तहसील परिसर में गंदगी का अंबार के साथ जगह जगह कूड़े के बड़े-बड़े ढेर लगे हुए हैं जिनको देखने से लगता है कि काफी वर्षों से इस पर कोई ध्यान दिया गया हो

ध्यान देने वाली बात तो यह है कि तहसीलदार और एसडीएम जैसे अधिकारियों के कार्यालय में अलग से शौचालय की व्यवस्था होने के चलते उन्हें ना तो कर्मचारी और ना ही आम जनता को होने वाली समस्या के चलते होने वाली गंदगी से आज भी मोन ओर अनजान बने हुए हैं।

मौसम खराब होने के कारण थोड़ी बहुत गंदगी हुई है-उपजिलाअधिकारी

जब हमारे संवाददाता ने इस मामले को लेकर उपजिलाअधिकारी कौस्तुभ मिश्रा से बात की तो उन्होंने भी माना और इस समस्या को बेहद ही हल्के अंदाज में लेते हुए रटा रटाया जवाब देते नजर आए. उन्होंने बताया कि मौसम खराब होने के कारण थोड़ी बहुत गंदगी हुई है. जल्द ही इस ओर ध्यान दिया जाएगा जहां तक की शौचालय की बात है उनकी भी जल्द से जल्द सफाई कराई जाएगी।

जब हमने इसी मामले को लेकर अधिवक्ताओं से बात की तो उन्होंने भी माना कि शौचालयों में गंदगी का अंबार लगा हुआ है कई बार इस मामले को लेकर उप जिलाधिकारी को अवगत कराया गया है लेकिन आज तक कोई संज्ञान नहीं लिया गया है और स्वच्छता के नाम पर पलीता लगाया जा रहा है जिसके जिम्मेदार स्वयम तहसील परिसर के अधिकारी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here