उत्तराखंड : फरार दो इनामी माओवादी गिरफ्तार, एसएसपी ने किया खुलासा

किच्छा(मो. यासीन)- पुलिस की पकड़ से काफी दिनों से फरार चल रहे इनामी माओवादी आखिरकार खाकी की गिरफ्त में आ ही गए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सदानंद दाते ने आज मीडिया के सामने रूबरू होते हुए बताया कि उत्तराखंड में पिछले कई सालों से माओवाद को धार देने में लगे दो माओवादी बीती शाम सी.ओ. सितारगंज हिमांशु शाह की अगुवाई में पुलिस टीम ने किच्छा थाना क्षेत्र के एक आम के बगीचे से पकड़े हैं। कप्तान दाते के मुताबिक पकड़े गए माओवादी हार्डकोर किस्म के हैं जो माओवाद की गम्भीर आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहे हैं।

पकड़े गए माओवादियों लालकुआं थाना क्षेत्र के हल्दूचौड़ निवासी रमेश भट्ट उर्फ मनीष मास्टर उर्फ दिवाकर भट्ट और यूपी के चंदौली निवासी मनोज कुमार सिंह उर्फ अरविंद सिंह की पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी। पुलिस की पूछताछ में दोनों ने बताया कि वह उत्तराखंड में औद्योगिक अशांति को भड़काने के लिए काफी दिनों से प्रयास कर रहे थे। उत्तराखंड जोनल कमेटी के सक्रिय सदस्य रहे दोनों माओवादियों ने अपने छद्म नामों के द्वारा कई बार पुलिस को चकमा दिया है।

2005 में बिहार के मधुबनी में हुए ऑपरेशन धमाका में 300 माओवादियों ये भी शामिल

कप्तान दाते ने बताया कि वर्ष 2005 में बिहार के मधुबनी में हुए ऑपरेशन धमाका में 300 माओवादियों ने विभिन्न स्थानों पर बड़े पैमाने पर माओवादी हमले को अंजाम दिया था. जिसमें भारी जान-माल का नुकसान हुआ था। उक्त वारदात में शामिल कुल 300 माओवादियों में पकड़े गए दोनों माओवादियों ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था और बिहार में पुलिस की पकड़ से बचने के लिए दोनों उत्तराखंड में छिपकर यहां खास तौर पर असंगठित क्षेत्र के मजदूरों मैं पेंठ बनाकर माओवाद की जड़े मजबूत करने में लगे हुए थे। पुलिस की मौजूदगी में दोनों माओवादियों ने वर्ष 2004 के दौरान नैनीताल जनपद के चोरगलिया थाना क्षेत्र में लगे माओवादी कैंप में क्षेत्रीय जनता को बरगलाने की बात कबूल की।

माओवाद के नेटवर्क की और परतें खुलने की सम्भावना

पुलिस ने पकड़े गए दोनों माओवादियों से राष्ट्र विरोधी गतिविधियों से संबंधित माओवादी साहित्य भी बरामद किया है। दोनों माओवादियों के पकड़े जाने से ऊधम सिंह नगर में माओवाद के नेटवर्क की और परतें खुलने की सम्भावना है। पुलिस महानिदेशक व पुलिस महानिरीक्षक कुमाऊं द्वारा माओवादियों को पकड़ने में शामिल पुलिस टीम को 10-10 हजार के नकद इनाम व एस.एस.पी. द्वारा 5000 के इनाम की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here