विधायक की इस पहल से नहीं रहेगा अब कोई युवा बेरोजगार! जानिए कैसे?

देवप्रयाग- देवप्रयाग विधानसभा में अब नहीं रहेगा कोई युवा बेरोजगार! जी हां युवा और तेजतर्रार विधायक विनोद कंडारी अपनी अनूठी पहल कुछ इसी दिशा में आगे बढ़ा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन वाक्य हर हाथ रोजगार को युवा विधायक कंडारी केंद्र और राज्य सरकार की कई रोजगार परख जरिए सार्थक करते हुए नजर आ रहे हैं। विधायक बनने के बाद से कंडारी ने बेरोजगारी को जड़ से खत्म करने का निर्णय लिया। जिसकी पहल उन्होंने अपनी विधानसभा देवप्रयाग से शुरू की। युवाओं को रोजगार और रोजगार परख प्रशिक्षण दिलाने के लिए उन्होंने अपने क्षेत्र में रोजगार मेलों को लगवाने की शुरूआत की, एक के बाद एक अब तक करीब आधा दर्जन से अधिक रोजगार मेले वह अपने क्षेत्र में लगवा चुके हैं।

1 हजार युवाओं के लिए खुली रोजगार की राह

इस बार विधायक विनोद कंडारी की पहल पर बुधवार को विकासखंड मुख्यालय के रामलीला मैदान में एक दिवसीय रोजगार परामर्श मेले का आयोजन किया गया. मेले का उद्घाटन कर विधायक कंडारी ने तमाम स्टालों का निरीक्षण किया और युवाओं को रोजगार, प्रशिक्षण की जानकारी ली। इस मेले में उत्तराखंड के साथ ही देश की 10 कंपनियों और संस्थानों ने स्टाल लगाए थे।
इस मौके पर काउंसलिंग के लिए 650 युवाओं का पंजीकरण किया गया, जबकि 287 युवतियों और 36 युवाओं ने ऑनलाइन पंजीकरण करवाया।
मेले में एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना के माध्यम से 650 बेरोजगारों का काउंसिलिंग के लिए पंजीकरण किया गया। इस मौके पर नगर पंचायत अध्यक्ष कल्पना कठैत, एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना प्रबंधक हीरा बल्लभ पंत, महिपाल बुटोला, मुकेश कठैत, आशा पैन्यूली, विपिन भंडारी, संजीव चैहान, चंद्रपाल व आनंद ममगांई आदि मौजूद थे. इससे पहले हिंडोलाखाल में आयोजित रोजगार करियर मेले में क्षेत्र के 500 युवा बेरोजगारों ने अपना पंजीकरण करवाया।

पहाड़ो में पलायन में लगेगी रोक
ग्रामीण युवाओं को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने के मकसद से रोजगार मेले का आयोजन किया गया है। विधायक विनोद कंडारी का कहना है ऐसा करने से पहाड़ से पलायन और बेरोजगारी का काफी हद तक खत्म हो जाएगी। इसीलिए युवकों को रोजगार दिलवाना मेरा प्राथमिकता में शामिल किए हुआ है। पतंजलि, टाटा समूह, गोदरेज, कोका कोला जैसी नामचीन कंपनियों को भी रोजगार उपलब्ध कराने को लेकर क्षेत्र में लाने का में लगातार प्रयास कर रहा हूं।

बढ़ी युवाओं के चेहरे की रौनक
पहाड़ों में शायद ऐसा पहली बार हो रहा है जब रोजगार मेलों में स्थानीय युवाओं की अच्छी खासी भीड़ देखने को मिला. इस रोजगार मेले में आने वाले युवाओं के चेहरों की रौनक भी बढ़ गई. अब युवाओं को रोजगार के लिए दर-दर भटकने की जरूरत नहीं है क्योंकि विधायक और टीम ने युवाओं को घर की दहलीज पर आकर रोजगार देने का नेक काम किया.

आंखों में सुनहरे भविष्य के सपने

मेले में मौजूद तमाम कंपनियों के प्रतिनिधियों ने युवाओं को रोजगार संबंधी प्रशिक्षण की जानकारी दी। वहीं युवाओं की सबसे ज्यादा भीड़ फ्यूजन इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट के स्टाल पर देखने को मिली और युवाओंके आंखों में सुनहरे भविष्य के सपने भी साफ झलके.

विधायक विनोद कंडारी का कहना हा कि फ्यूजन इंस्टीट्यूट से अब तक बड़ी संख्या में युवा केन्द्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा संचालित की जाने वाली कई योजनाओं के जरिए ट्रेनिंग लेकर रोजगार प्राप्त कर चुके हैं और कई अपना खुद का स्वरोजगार चला रहे हैं। देवप्रयाग क्षेत्र के ही कई युवा देश और विदेश के जाने माने होटलों में काम कर अपना भविष्य संवार रहे हैं।

-विनोद कंडारी, विधायक, देवप्रयाग

देवप्रयाग विधायक विनोद कंडारी की पहल स्वागत योग्य और बहुत ही सार्थक हैं। रोजगार मेलों के जरिए युवाओं को केन्द्र व राज्य सरकार की तमाम योजनाओं की जानकारी के साथ उनके लिए कौन सा फील्ड बेहत्तर साबित हो सकता है, इस बात की जानकारी भी उन्हें मिलती है। इसके लिए एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना प्रबंधक हीरा बल्लभ पंत भी बधाई के पात्र हैं। मेरा विधायक कंडारी जी से एक निवेदन है कि वह उन संस्थानों का निरीक्षण भी समय-समय पर करें जो युवाओं को रोजगार परख प्रशिक्षण प्रदान कर रही हैं।

अरूण चमोली, निदेशक, फ्यूजन इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here