लुटेरा गिरोह : लुटेरी दुल्हन के हुस्न का जादू, करने जा रही थी 11वीं शादी

रुड़की- कहते है कि हुस्न वालों से बचकर ही रहना चाहिये, पर जिस पर हुस्न का जादू चल जाता है वह कहीं का नहीं रहता. पर जो सच्ची घटना हम आपको बताने जा रहे है उसमें हुस्न का जादू एक या दो लोगों पर नहीं चला बल्कि पूरे ग्यारह लोगों को इस हुस्न ने लूट लिया.ऐसा ही एक खुलासा किया है पिरान कलियर पुलिस ने.

करने जा रही 11वीं शादी

पुलिस के मुताबिक यह लूटेरी दुल्हन पैसे वाले व्यक्ति से शादी करती और कुछ दिनों बाद उसकी जमा पूँजी लेकर चम्पत हो जाती. अफ़ज़ल गढ़, जिला बिजनौर, उत्तर प्रदेश की रहने वाली रीता उर्फ पूजा दस शादी करने के बाद ग्यारवी शादी के लिए धनोरी के अशोक को चुना और अपने गिरोह के तीन साथियों के साथ अशोक को शादी के झांसे में फंसाया साथ ही अपने तीनो साथियों को अपना पिता व भाई बना कर हरिद्वार के रोशनाबाद में 2 मई को विवाह किया.

शादी के बाद जेवर लेकर हो जाती थी फरार

जिसके बाद अशोक अपनी नई नवेली दुल्हन को लेकर अपने गांव धनोरी आ गया. लेकिन उसी रात की लूटेरी दुल्हन सब ज़ेवर व रुपये लेकर फरार हो गई. शादी से पहले दुल्हन के साथी ने शादी के नाम पर अशोक से पचास हज़ार रुपये यह कह कर ले लिए थे कि लड़की गरीब है उसे शादी के खर्च के लिए रुपयो की ज़रूरत है दुल्हन के फरार होने के बाद उन्होंने धनोरी चौकी में संबंधित मामले में तहरीर दी जिसके बाद 17 मई को मुखबिर की सूचना पर चारो आरोपियों को हरिद्वार से गिरफ्तार कर लिया जिसके बाद उनके साथ ही पुलिस ने अशोक द्वारा दिये गए पचास हज़ार रुपयो मे से पैतीस हज़ार रुपये व दो मोबाइल भी इनके पास से बरामद किए पकड़े गए सभी आरोपी यू पी के जिला बिजनोर के रहने वाले है पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि अब से पहले वह यू पी हरियाणा व राजिस्थान में इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे चुके है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here