हरक चले सीएम की राह, काफिला रुकवाकर घायल की मदद करने दौड़े

कोटद्वार- प्रदेश के वन मंत्री डॉ हरक सिंह रावत ने आज इंसानियत का परिचय देते हुए एक सराहनीय कार्य किया है। दरअसल, हरक सिंह सतपुली जा रहे थे। रास्ते में उन्होंने दुर्घटनाग्रस्त एक छोटे वाहन को देखा तो खुद का काफिला रोक राहत कार्य में जुट गये।

काफिला रुकवाकर मंत्री सीधे गाड़ी की ओर दौड़े। उनकी नज़र खाई में गिरे घायल व्यक्ति पर पड़ी। तुरंत घायल को खाई से निकालने का प्रबंध किया गया। पता चला कि घायल कलालघाटी कोटद्वार निवासी एक पूर्व सैनिक हैं। मंत्री ने उन्हें 108 से कोटद्वार अस्पताल भिजवाया। उन्होंने घायल के इलाज के लिये आधिकारियों को तुरंत कार्य करने के निर्देश दिये।

गौरतलब है कि देहरादून में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के फ्लीट के दौरान एक दंपती स्कूल से अपनी बच्ची को स्कूटर पर लेकर जा रहे थे जो कि भीड़भाड़ के चलते अनियत्रित होकर फ्लीट के सामने सड़क पर गिर पड़े. सीएम ने तत्काल काफिले को रुकवाकर बच्ची  और उसकी परिवार की मदद के लिए आए थे और उसे सराहते हुए इसक हाल चाल जाना था.

बता दें कि आज हंस फाउंडेशन द्वारा बनाए गए हॉस्पिटल का उद्घाटन किया जाना है जिसमें केंद्रीय मंत्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री-मंत्री, प्रदेश के कई मंत्री व विधायक शामिल होने सतपुली पहुंच रहे हैं। इसी कार्यक्रम में वन मंत्री हरक सिंह रावत भी कोटद्वार से सतपुली के लिए रवाना हुए थे कि रास्ते में उन्होंने एक्सीडेंट हुआ देखा।

ये देखते ही हरक सिंह रावत ने अपनी गाड़ियों का काफिला रुकवाया और स्वयं ही राहत कार्य में लग गए। उन्होंने तुरंत मौके से अधिकारियों को फोन किया और तुरंत काम करने के निर्देश दिये। उन्होंने 108 की मदद से घायल को कोटद्वार के राजकीय चिकित्सालय पहुंचाया गया। उसके बाद रावत व अन्य लोग  सतपुली में प्रस्तावित हंस फाउंडेशन के कार्यक्रम के लिए रवाना हो गए।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here