63 की उम्र में मिला मां बनने का सुख लेकिन सरकार ने छीन लिया बच्चा, जानिए

मां बनने का सुख अलग ही होता है. घर में जब एक नया नन्हा मेहमान आता है तो पूरा घर खुशियों से झूम उठता है. लेकिन लंदन के ब्रिटेन में एक बुजुर्ग दंपती के साथ दुर्भाग्य पूर्ण घटना घटी। क्रमश: 63 व 65 की उम्र में वे सरोगेट मदर की सेवा लेने वाले सबसे अधिक उम्र के पेरेंट्स बने लेकिन सामाजिक संगठनों द्वारा संतान को ले लिए जाने के बाद अब वे हताश महसूस कर रहे हैं।

ये दंपती नार्थ ब्रिटेन के हैं। सोशल सर्विसेस ने पिछले साल दोनों से बात की थी और चेताया था कि उन्हें संतान की देखरेख को लेकर कुछ सुधार करने होंगे। उस दौरान यह तय किया गया था कि बच्चे की देखरेख के लिए कुछ शर्तें अनिवार्य रूप से मानी जाएंगी जिसके मुताबिक सोशल सेवाओं ने बच्चे की केयर शुरू कर दी।

दंपती ने 1 लाख पाउंड से अधिक राशि सरोगेट मदर की सेवा पर की खर्च 

बुजुर्ग दंपती ने 1 लाख पाउंड से अधिक राशि सरोगेट मदर की सेवा पर खर्च की। 30 वर्षीय सरोगेट मदर आखिर 65 वर्षीय व्यक्ति के स्पर्म से गर्भवती हुई। इसके बाद की प्रक्रियाएं पूरी करने के लिए उन्होंने ब्रिटेन से बाहर जाकर एक क्लीनिक की सेवाएं लीं क्योंकि ब्रिटेन में उनकी उम्र को देखते हुए इस मामले को देखा नहीं जा सकता था।

जब बच्चे का जन्म हुआ तब सर्टिफिकेट पर मां और पिता का नाम तो लिखा गया लेकिन साथ ही उन्हें एक दस्तावेज पर भी साइन करना पड़ा जिसके अनुसार इस बुजुर्ग दंपती को बच्चे को गोद देना था। चूंकि सोशल सर्विस इस मामले पर निगरानी रखे हुए थीं, ऐसे में उन्होंने बच्चे को तुरंत गोद ले लिया।

नवजात को पालन पोषण संबंधी देखभाल में रखा गया है जबकि दंपती अभी भी उसे पाने के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। यह बेहद असामान्य घटना थी। हालांकि इससे सभी खिन्न हैं लेकिन लोग यह भी मान रहे हैं कि सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शिशु के हित में उचित ही किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here