शीतकाल में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने उठाया बड़ा कदम

देहरादून- सूबे को देश दुनिया महज तीर्थाटन के मकसद से जाने बल्कि उत्तराखंड पर्यटन का बड़ा केंद्र बनकर उभरे इसके लिए सरकार जुटी है। शीतकाल में दुनिया भर के सैलानी उत्तराखंड की वादियों में अपनी छुट्टियां बिताएं इसके लिए सरकारी कवायद जारी है।
इसी कड़ी मे आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सीएम आवास से 35 सदस्यीय साहसिक पर्यटक दल को  हरी झण्डी दिखाकर बद्रीनाथ के लिए रवाना किया। प्रदेश में शीतकालीन पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रवाना की गई इस टीम में 04 महिलाएं भी शामिल हैं।
15 बाइक एवं 05 कारों से रवाना हुए इस दल में गुजरात, दिल्ली, कर्नाटक, हरियाणा, चण्डीगढ़ एवं तमिलनाडू के साहसिक पर्यटक हैं, जो बद्रीनाथ एवं उसके आस पास के बर्फीले क्षेत्रों में बाइक एव कारों से भ्रमण करेंगे। 05 दिवसीय भ्रमण पर गया यह दल 10 जनवरी 2018 को वापस देहरादून लौटेगा।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड में साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने और नौजवानों को पर्यटन के लिए आकर्षित करने के लिए Where eagles dare grup badrinath को रवाना किया गया है। उन्होंने कहा कि जब भी शीतकालीन खेलों की बात आती है तो लोगों का ध्यान सबसे पहले उत्तराखण्ड पर जाता है।
सीएम रावत ने कहा उत्तराखण्ड शांति, सुरक्षा एवं प्राकृतिक सौन्दर्य की दृष्टि से भारत के सर्वश्रेष्ठ स्थानों में है। उन्होंने कहा कि औली में इस माह आयोजित होने वाले फेडरेशन आॅफ इण्टरनेशनल स्कीइंग रेस के लिए तैयारियां चल रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here