टिहरी झील महोत्सव : टिहरी में तीन दिवसीय साहसिक महोत्सव 2018 का शुभारंभ

नई टिहरी- देश के सबसे ऊंचे बांध टिहरी की झील में उत्सव शुरू हो गया है। शुक्रवार को टिहरी झील में महोत्सव का विधिवत शुभारंभ किया गया। इस दौरान उत्तराखंड समेत 14 राज्यों की आकर्षक सांस्कृतिक झांकियों ने सबका मन मोह लिया। सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत उद्घाटन अवसर पर नहीं पहुंच सके। जंगलों में लगी आग के कारण हुई धुंध से उनका हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं भर सका।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय और विधायक धन सिंह नेगी ने टिहरी झील साहसिक महोत्सव 2018 का शुभारंभ किया। कल्चरल परेड में विभिन्न राज्यों के कलाकारों ने लोकनृत्य प्रस्तुत कर भारत की समृद्ध संस्कृति की झलक पेश की। टिहरी महोत्सव के सरकार की ओर से बड़े स्तर पर प्रचार प्रसार किया गया है।

टिहरी झील महोत्सव के दौरान वाटर स्पोर्ट्स के अंतर्गत बोटिंग, जेट स्कीईंग, वाटर स्कीईंग, सर्फिंग, कैनोईंग, रिवर राफ्टिंग, जबकि ऐरो स्पोर्ट्स में पैराग्लाइडिंग, हॉट एयर बैलून तथा पैराजंपिंग आदि गतिविधियां आयोजित हो रही हैं। पहली बार ये इंतजाम किया जा रहा है कि टिहरी महोत्सव के लिए जुटने वाले पर्यटक झील क्षेत्र में ही रुक पाएं। कम से कम 500 लोगों के रहने की व्यवस्था की गयी है। 27 मई तक चलने वाले महोत्सव से इस बार पर्यटन को बढ़ावा देने का पूरा प्रयास होगा।

धुंध के कारण नहीं उड़ पाया सीएम का हेलीकॉप्टर

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत टिहरी झील महोत्सव में निर्धारित समय पर नहीं पहुंच पाए। जंगल में लगी आग से आसमान में फैली धुंध के कारण उनका हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं भर सका। सीएम को 11 बजे पहुंचना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here