अचानक छापेमारी करने पहुंचे अफसर, पढ़िए क्यों रह गए खुद ही हैरान

रानीखेत : छावनी क्षेत्र की मुख्य बाजार का जायजा लेने के बहाने अधिकारियों ने अचानक छापा मारा तो खुद ही हैरान रह गए। सदर बाजार हर जगह अतिक्रमण ही अतिक्रमण मिला। फड़ ठेली वाले मुख्य सड़क घेर कर बैठे थे तो बड़े व्यापारी भी काउंटर मानक के उलट आगे बढ़ा व्यवस्था बिगाड़ते मिले। सीईओ कैंट ज्योति कपूर व संयुक्त मजिस्ट्रेट हिमांशु खुराना ने कड़ी चेतावनी देकर अतिक्रमण खुद हटाने का फरमान सुनाया। साफ किया कि व्यवस्था न सुधारी तो सामान जब्त कर लिया जाएगा।

बाजार क्षेत्र में अतिक्रमण की ताजा स्थिति व बिगड़ते हालात के मद्देनजर संयुक्त मजिस्ट्रेट हिमांशु व सीईओ ज्योति के संयुक्त नेतृत्व में कैंट, पुलिस व प्रशासनिक टीम छापा मारने पहुंची। केमू स्टेशन, सुभाष व गाधी चौक होते हुए अधिकारी मुख्य सदर बाजार पहुंचे तो अतिक्रमण से सिकुड़ चुकी सड़क देख सकते में आ गए। नो पार्किंग जोन में बेतरतीब वाहन खड़े किए गए थे। व्यापारी सड़क की ओर अपनी दुकान फैलाए पड़े मिले। रही सही कसर फड़ व ठेली वालों ने पूरी कर रखी थी। चंद रुपयों के लालच में दुकानदारों ने अपने आगे रोड पर ही मानक के उलट फड़ वालों को बैठाया था। इससे यातायात व्यवस्था भी भंग हो रही थी।

अधिकारियों के औचक निरीक्षण से हड़कंप के बीच हालांकि तमाम दुकानदारों ने खुद ही सामान समेटना शुरू कर दिया। इस पर सीईओ ज्योति व संयुक्त मजिस्ट्रेट हिमांशु ने व्यापारियों को कड़ी नसीहत दी। बाजार क्षेत्र में अतिक्रमण खुद न हटाने पर अभियान चला सामान जब्त करने की चेतावनी भी दी गई। अभियान में सीओ कमल राम, एसएसआई राजीव उप्रेती आदि शामिल रहे।

नो पार्किंग में खड़े 33 वाहनों का चालान

बाजार क्षेत्र में छापे के दौरान व्यवस्था बिगाड़ने में अहम रोल निभाने वाले नो पार्किंग जोन में खडे़ वाहन चालकों की शामत आई। सीओ कमल राम के निर्देश पर पुलिस ने 33 वाहनों का चालन काट 3500 रुपया जुर्माना वसूला गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here