बर्खास्त कंडक्टरों के सर्मथन में उतरे रोडवेड कर्मचारी यूनियन, आंदोलन की चेतावनी

देहरादून- बीते दिनों उत्तराखंड परिवहन निगम में 30 संविदा कंडक्टर की बर्खास्तगी पर रोडवेज कर्मचारी यूनियन नें नाराजगी जाहिर करते हुए हल्द्वानी बस स्टेंड और आईएसबीटी पर बैठक का आयोजन किया और इस बैठक में कंडक्टरों की बर्खास्ती पर रोष जताते हुए आंदोलन की चेतावनी दी गई.

ई-टिकटिंग मशीन में सॉफ्टेवयर अपडेट न होना इसका कारण

दरअसल 30 कंडक्टरों की बर्खास्तगी के बाद रोडवेज कर्मचारी यूनियन में रोष का माहौल पैदा हो गया है. यूनियन का कहना है साफ तौर पर कहना है कि उपरोक्त प्रकरण ई-टिकटिंग मशीन में सॉफ्टेवयर अपडेट न होने  औऱ परिचालकों को जानकारी व प्रशिक्षण न दिए जाने के कारण ये हुआ है. साथ ही यूनियन कर्मचारियों का कहना है कि परिचालकों के विरुद्ध कार्रवाही करना और सम्बंधित धनराशि की रिकवरी करना नियम व विधि विरुद्ध है. यूनियन कर्मचारियों का कहना है कि इस मामले में कोई अनियमितता नहीं पाई गयी है और न ही किसी के जरिए किसी धनराशि का लेनदेन हुआ और न ही किसी संस्थान को कोई नुकसान हुआ है.

न हुई कोई निष्पक्ष जांच न पक्ष रखने का दिया मौका

साथ ही यूनियन कर्मचारियों का कहना है कि इस प्रकरण की कोई निष्पक्ष जांच नहीं हुई और न ही परिचालकों को अपना पक्ष रखने का मौका दिया गया. बल्कि परिचालकों द्वारा प्रकरण से सम्बंधित समस्त मार्ग पत्र और ई-टिकटिंग मशीनें विभागीय लिपिकों को चैक कराकर ही धनराशि जमा करवाई गई है.

कार्य बहिष्कार कर आंदोलन की चेतावनी

यूनियन का कहना है कि प्रबंधन द्वारा किसी भी परिचालक के विरुद्ध आऱोप पत्र जारी करने या सेवा से अलग करने की कार्यवाही की जाती है तो यूनियन के सभी सदस्य कार्यवाही के 24 घंटे के अंदर कार्य का बहिष्कार कर आंदोलन करने पर उतारु होंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here