फेडरेशन ऑफ इन्टरनेशनल स्कीइंग रेस की तैयारियां तेज, मुख्य सचिव ने ली बैठक

औली (चमोली)-औली में 15 से 21 जनवरी, 2018 तक आयोजित होने वाली फेडरेशन ऑफ इन्टरनेशनल स्कीइंग रेस (एफआईएस) की तैयारियों को लेकर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने पर्यटक आवास गृह औली सभागार में सभी उच्चाधिकारियों एवं नोडल अधिकारियों की बैठक ली। जिसमें उन्होंने फिस रेस की व्यवस्थाओं से जुड़े अधिकारियों को तय समय सीमा के भीतर सभी व्यवस्थाऐं पूर्ण करते हुए संबधित कार्यो को पूरा होने पर सर्टीफिकेट उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि व्यवस्थाओं की स्थापना एवं कार्यो के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की कोई समस्या आ रही है तो समय रहते अवगत कराना सुनिश्चित करें, ताकि समस्याओं का समय रहते समाधान किया जा सके।

भारत में पहली बार फिस रेस का आयोजन

मुख्य सचिव ने कहा कि भारत में पहली बार फिस रेस का आयोजन किया जा रहा है, जिसका उदेश्य देश के ऐसे एथलीटस् जो औलम्पिक व अन्य अन्तराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में क्वालीफाई नही कर पाते है उनके लिए अच्छे अंक अर्जित करने के लिए सुनहरा अवसर देना है। इसके साथ ही स्थानीय स्तर पर भी स्कीयर्स को तैयार करने के लिए अच्छे प्रशिक्षक रखने की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने कहा कि आईएफएस गेम्स कराने का उद्देश्य औली को टूरिस्ट डेस्टिनेशन के रूप में विकसित करना भी है।

कार्यो की धीमी प्रगति पर की नाराजगी जाहिर

मुख्य सचिव ने स्लोप के कुछ कार्यो की धीमी प्रगति पर नाराजगी जाहिर करते हुए मैनपावर बढाते हुए प्राथमिकता के आधार पर दिसंबर माह के अंत तक स्लोप के सभी कार्यो को पूरा करने के निर्देश जीएमवीएन के अधिकारियों को दिये। उन्होंने औली में पम्प हाउस, मोबाईल स्नोगन, एवरेस्ट स्नोग्रूमर, स्नो ग्रूमर हस्की, स्नोवीटर, स्कीलिफ्ट, पोमा स्की लिफ्ट, चियर लिफ्ट आदि उपकरणों के मरम्मत कार्यो को भी शीघ्र पूरा करने तथा सभी उपकरणों को सही स्थिति में रखने के निर्देश जीएमवीएन के अधिकारियों को दिये। पोमा स्की लिफ्ट की जानकारी लेते हुए वेेंडर से तत्काल पोमा स्की लिफ्ट उपलब्ध कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। इसके साथ ही उन्होंने कम्प्रेशर की सर्विसिंग के कार्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये।

प्रतिदिन कार्यो की माॅनिटरिंग और कार्य प्रगति की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश

उन्होंने फिस रेस से जुडे कार्यो को समय से पूरा कर लिखित रूप से प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के निर्देश सभी संबधित अधिकारियों को दिये। इसके साथ ही उन्होंने प्रतिदिन कार्यो की माॅनिटरिंग करने तथा कार्य प्रगति की रिपोर्ट जिलाधिकारी एवं गढवाल आयुक्त को भी उपलब्ध कराने को कहा।

शांति एवं सुरक्षा के साथ यातायात व्यवस्था सुचारू बनाये रखने के निर्देश

मुख्य सचिव ने औली एवं जोशीमठ में देश विदेश से आने वाले स्कीयर्स, टैक्नीशियन एवं आफिसर्स को औली में ही आसपास आवास की व्यवस्था करने को कहा…जिससे की बर्फवारी अधिक होने पर आने जाने में किसी प्रकार की परेशानी न हो तथा किसी भी उपकरण में तकनीकी समस्या आने पर उसको समय से दूर किया जा सके। उन्होंने गेम्स के दौरान वाहन पार्किगं हेतु स्थलों का चयन करने, गेम्स के दौरान शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था को बनाये रखने के साथ-साथ यातायात व्यवस्था सुचारू बनाये रखने के निर्देश दिये। गेम्स के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए डाॅक्टरों की तैनाती तथा पर्याप्त मात्रा में दवाईयों का स्टाॅक रखने को कहा। विघुत  एवं पेयजल विभागों को आपूर्ति बनाये रखने हेतु आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने को कहा।

मुख्य सचिव ने सांस्कृतिक समिति को गंगा की स्वच्छता पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करने का सुझाव भी दिया ताकि यहाॅ आने वाले पर्यटक एक अच्छा संदेश लेकर जाये। उन्होंने औली-जोशीमठ मोटर मार्ग पर स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था करने, बर्फ हटाने के लिए स्नोकटर व जेसीबी मशीन की तैनाती सुनिश्चित करने को कहा। पैदल मार्गो को भी दुरूस्थ रखने के निर्देश वन विभाग को दिये। गेम्स के दौरान औली में संचार व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा अन्य सभी व्यवस्थाओं से जुड़े विभागों को अपने कर्मचारियों की तैनाती सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

बैठक से पहले मुख्य सचिव ने स्किंग स्लोप पर चल रहे निर्माण कार्यो तथा कृत्रिम बर्फ बनाने वाली मशीनों, पम्प हाॅउस, आर्टिफिसियल लेक आदि का निरीक्षण भी किया। निरीक्षण के दौरान आॅस्ट्रिया व फ्रांस से आये तकनीकी इंजीनियरों से वार्ता करते हुए वस्तु स्थिति की जानकारी दी।

इस अवसर पर पर्यटन सचिव गढवाल आयुक्त दिलीप जावलकर, जिलाधिकारी आशीष जोशी, पुलिस अधीक्षक तृप्ति भट्ट, डिप्टी कमांडेन्ट आईटीबीपी विजय चन्द्रा उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here