देहरादून में नकली नोट छापे और चलाने पहुंच गए चमोली, पुलिस ने पकड़ा

चमोली। उत्तराखंड में नकली नोटों के कारोबारियों का जाल तेजी से फैल रहा है। देहरादून में नकली नोट छाप कर उन्हें पहाड़ के भोले भाले ग्रामीणों के बीच चलाने का खुलासा हुआ है। ये खुलासा चमोली पुलिस ने किया है। दरअसल गौचर हवाई पट्टी के पास से पुलिस ने दो लोगों को पकड़ा। इनके पास से पुलिस ने छह लाख से अधिक के नकली नोट बरामद किए। पूछताछ में पता चला कि ये दोनों देहरादून में नोट छाप कर उन्हें पहाड़ी इलाकों में चलाने आए हैं।

पुलिस के मुताबिक ये कीड़ाजड़ी, जानवरों की खाल वगैरह खरीदने के लिए ग्रामीणों से संपर्क करने और उन्हें यही नकली नोट पकड़ा देने की फिराक में थे। पुलिसिया पूछताछ में पता चला कि पकड़े गए दोनों शख्स देहरादून से आए हैं। एक शख्स का नाम अरुण कौशल है वो देहरादून के डोईवाला इलाके में रहता है जबकि दूसरा पंकज रावत है जो फिलहाल देहरादून के सहस्त्रधारा हेलीपैड के पास रह रहा है। अरुण अपने घर पर ही प्रिंटर लगा कर नकली नोट छापने का काम करता है।

यहीं छपे हुए नकली नोटों को लेकर ये दोनों गौचर पहुंचे थे और ग्रामीणों को बेवकूफ बना कर उनके बीच ये नकली नोट चलाने की फिराक में थे। उससे पहले ही पुलिस ने उन्हें धर दबोचा। इन दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। हालांकि इससे एक बड़ा सवाल ये भी उठता है कि देहरादून में नकली नोट छप रहें हैं वहां की पुलिस को पता ही नहीं चला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here