पौड़ी की प्रतिष्ठा ने पहले ही प्रयास में हासिल की सिविल सेवा परीक्षा में 50वीं रैंक

पौड़ी: संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा-2017 में जनपद पौड़ी की बेटी ने 50वीं रैंक हासिल कर प्रदेश का नाम रोशन किया है। बेटी की इस उपलब्धि से परिवार के साथ ही गांव, जनपद व प्रदेश में खुशी की लहर है। प्रतिष्ठा ने यह सफलता पहले ही प्रयास में हासिल की है। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय सेल्फ स्टडी, परिजनों व शिक्षकों के मार्गदर्शन को दिया है।

जिला मुख्यालय पौड़ी से करीब 4 किमी दूरी पर स्थित बैंग्वाड़ी प्रतिष्ठा का मूल गांव है। उसका परिवार वर्तमान में नई दिल्ली में रहता है। प्रतिष्ठा का जन्म व शिक्षा दिल्ली में ही हुई है, लेकिन उनका दिल हमेशा से ही उत्तराखंड में ही बसता है। प्रतिष्ठा का जन्म 13 अगस्त 1995 में दिल्ली में हुआ। बचपन से ही पढ़ाई में अव्वल रहीं प्रतिष्ठा ने वर्ष 2011 में लोनेटो कांन्वेट स्कूल नई दिल्ली से हाईस्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण की। इसी विद्यालय से वर्ष 2013 में इंटरमीडिएट में उसने विद्यालय टॉप किया।

पिता मेजर जनरल से सेवानिवृत्त ल मां अध्यापिका

प्रतिष्ठा सेंट स्टीफन कॉलेज नई दिल्ली से अर्थशास्त्र में स्नातक अंतिम वर्ष की छात्रा है। प्रतिष्ठा के पिता सुरेश मंमगाई सेना से मेजर जनरल के पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं, जबकि माता परमेश्वरी मंमगाई अध्यापिका हैं। उसकी छोटी बहन लेडी श्रीराम कॉलेज दिल्ली में अध्ययनरत हैं। प्रतिष्ठा ने बताया कि वह 16 से 18 घंटे तक अध्ययन करती थीं। परीक्षा के अंतिम छह माह ही को¨चग ली। उन्होंने कहा मेरा जन्म व शिक्षा भले ही दिल्ली में हुई हो, लेकिन हमेशा से ही मेरा दिल उत्तराखंड के लिए धड़कता है।

सिविल सेवा परीक्षा में की 50वीं रैंक हासिल

सिविल सेवा परीक्षा में 50वीं रैंक हासिल करने वाली प्रतिष्ठा मंमगाई के माता-पिता को बेटियां हमेशा से ही बेटों से बढ़कर रहे हैं। पिता मेजर जनरल सेवानिवृत्त सुरेश मंमगाई ने बताया कि मेरी दो बेटियां हैं, लेकिन कभी बेटियों ने यह अहसास तक नहीं होने दिया कि बेटियां बेटों से कमतर हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा-दीक्षा से लेकर खेलकूद सहित सामाजिक गतिविधियों में हमेशा से ही प्रतिभाग करती व अव्वल आती रही हैं। गांव में है खुशी का माहौल

प्रतिष्ठा के गांव बैंग्वाड़ी में खुशी का माहौल

प्रतिष्ठा के मूल गांव बैंग्वाड़ी में उसकी सफलता के बाद खुशी का माहौल बना हुआ है। प्रतिष्ठा के ताऊ विमल मंमगाई, पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुनील मंमगाई ने बताया कि बेटी की सफलता से पूरा गांव खुशी में झूम रहा है। ये दिया युवाओं को संदेश

प्रतिष्ठा ने संघ व राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं को लगन व मेहनत से तैयारी करने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि एकाग्रता, कड़ी मेहनत व परिवार साथ सफलता की कुंजी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here