यात्रियों के छूटे पसीने, कुमाऊं में टैक्सी चालक हड़ताल पर…जानिए क्यों?

हल्द्वानी- कुमाऊं में टैक्सी चालकों की हड़ताल ने गुरुवार सुबह से ही यात्रियों के पसीने छुड़ा दिए। सुबह से ही यात्रियों के लिए अतिरिक्त रोजवेज व निजी बसों की व्यवस्था की गई थी। इसके बावजूद यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।टैक्सियों में स्पीड गर्वनर लगाने के विरोध में कुमाऊं भर के टैक्सी चालक गुरुवार को हड़ताल पर रहे।

हड़ताल गुरुवार सुबह रानीखेत एक्सप्रेस से काठगोदाम पहुंचे यात्रियों को नैनीताल व दूसरे पर्यटन स्थलों की ओर जाने के लिए टैक्सी नहीं मिली। परेशान यात्रियों को रोडवेज की बसों के जरिए नैनीताल व दूसरी जगहों की ओर रवाना किया गया। वहीं कुमाऊं के पर्वतीय इलाकों से हल्द्वानी आने वाले लोगों को भी भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

रोडवेज के मंडलीय प्रबंधक यशपाल सिंह ने बताया कि यात्रियों को किसी तरह की दिक्कत ना हो इसके लिए कुछ रूटों में कटौती कर पर्वतीय रूट पर गाड़ियों को बढ़ाया गया है।टैक्सी चालकों ने प्रदर्शन कियाहल्द्वानी में टैक्सी यूनियन कार्यालय के बाहर चालकों ने भी विरोध प्रदर्शन किया।

टैक्सी चालक विक्की अधिकारी का कहना था कि 60 से 70 किलोमीटर की अधिकतम रफ्तार इन दिनों प्रासंगिक नहीं है। अगर टैक्सी चालक मैदानी क्षेत्रों की ओर जाते हैं तो उन्हें ज्यादा समय लगेगा। ऐसे में स्पीड गर्वनर लगाना पूरी तरह से गलत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here