चीन सीमा से सटे उत्तराखंड गांवों की जरूरत पर केंद्र की पैनी नजर, जानिए क्या करने वाली है सरकार

केंद्र सरकार चीन सीमा से लगे राज्यों के लिए एक उच्च स्तरीय स्टडी ग्रुप बनाने जा रही है। इस समूह का मकसद यहां के लोगों को देश की मुख्य धारा से जोड़ना होगा।

इन राज्यों में उत्तराखंड भी है। स्टडी ग्रुप राष्ट्र की सुरक्षा के नजरिए से अध्ययन करेगा। इसके लिए केंद्र सरकार उत्तराखंड सरकार समेत सभी चीन सीमा से लगे पांचों राज्यों की सरकार से बात करेगी। इन पर विचार करने के बाद रिपोर्ट तैयार कर गृह मंत्रालय को सौंपी जाएगी।

गौरतलब है कि बीते हफ्ते  गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने उत्तराखंड दौरे में चीन से सटी सीमा का दौरा किया था। गृहमंत्री राजनाथ सिंह उत्तराखंड के उस इलाके में भी गए थे जहां कुछ महीने पहले चीन के सैनिकों ने घुसपैठ की थी।

राजनाथ ने कहा कि जो स्टडी ग्रुप सरकार बनाने जा रही है वह ये भी बताएगा कि चीन सीमा से सटे राज्यों में बेहतर सड़कें बनाने का काम जल्द कैसे पूरा किया जाए। स्टडी ग्रुप अपनी रिपोर्ट में इन राज्यों में सुरक्षा पैटर्न को भी परखेगा और आंतरिक और वाह्य सुरक्षा को बेहतर बनाने के गुर भी बताएगा।

अपने दौरे में उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों से हो रहे पलायन पर गृहमंत्री ने चिंता जाहिर की थी और सीमा से सटी गांव की आबादी को उनंहोंने देश की आंख और कान करार दिया था। राजनाथ ने कहा कि स्टडी रिपोर्ट राज्यों के दुर्गम गांवों को विकास की मुख्यधारा में शामिल करने की तरकीब बातएगी जिस पर अमल कर पलायन रोका जाएगा। क्योंकि ये आबादी देश के लिए रणनीतिक संपदा होते हैं। इसलिए इन्हें ज्यादा महत्व दिए जाने की जरूरत है।

इस स्टडी से चीन के साथ चुनौतियों के विषय पर अध्ययन भी हो सकेगा। ग्रुप पांच राज्यों में फैली 4,000 किलोमीटर लंबी इस सीमा पर उन सभी पहलुओं का अध्ययन करेगा ताकि देश आंतरिक और वाह्य स्तर पर मजबूत रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here