प्रदेश में सरकारी विभागों में रिक्त पदों का विवरण किया जा रहा है तैयार- सीेएम

चंपावत- मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को जनपद चम्पावत की तहसील पाटी में डिग्री कॉलेज तथा कोरा नदी लिफ्ट पेयजल योजना की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सरकार घोषणाओं के बजाय कार्य करने में विश्वास करती है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं का परीक्षण के बाद उन पर अमल किया जायेगा। इस अवसर पर उन्होंने पं.दीन दयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना के अन्तर्गत 121 कृषकों को एक करोड़ 2 लाख 38 हजार रूपये के ऋण के चैक वितरित किये।

रोजगार व स्वरोजगार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कदम उठा रही सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ठोस पहल कर रोजगार व स्वरोजगार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कदम उठा रही है जिसके लिए प्रदेश में सरकारी विभागों में रिक्त पदों का विवरण तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने हेतु प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में समान शिक्षा हेतु निजी व सरकारी विद्यालयों में एनसीईआरटी की पुस्तकें लागू की हैं, उत्तराखण्ड करने वाला देश का पहला राज्य है।

पुस्तकें लागू होने से सभी को एक समान शिक्षा का अवसर

उन्होंने कहा कि एनसीईआरटी की पुस्तकें लागू होने से सभी को एक समान शिक्षा का अवसर प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि सरकार निजी विद्यालयों के दबाव में नहीं आयेगी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में कम से कम 5 चिकित्सकों की नियुक्ति की जा चुकी है और एक वर्ष में सभी चिकित्सालयों में चिकित्सकों की नियुक्ति की जायेगी। उन्होंने टेली मेडीसीन व टेली रेडियाॅलोजी के बारे में जानकारी दी और कहा कि टेली मेडीसीन की स्थापना से जनपद से ही सभी बिमारियों का इलाज संभव हो सकेगा। उन्होंने कहा कि अभी तक राज्य के 36 चिकित्सालयों को टेली मेडीसीन से जोड़ दिया गया है। उन्होंने कहा कि खून के 46 टैस्टों हेतु पैथोलाॅजी की स्थापना की जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी जिला चिकित्सालयों में एक-एक आईसीयू यूनिट स्थापित करने के साथ 121 गाडियां 108 वैन के रूप में चिकित्सा हेतु खरीदी जा रही है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही 900 नर्सो की भर्ती की जायेगी और वर्ष 2018 को ‘रोजगार वर्ष’’ के रूप में मनाया जायेगा।

उन्होंने नौजवानों से स्वरोजगार की ओर उन्मुख होने, प्रकृति प्रदत्त जंगली फलों को प्रोसेस में लाकर रोजगार के अवसर प्राप्त करने, मुर्गीपालन, डेरी व्यवसाय अपनाने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि सरकार एलईडी बल्बों को प्रोत्साहित कर रही है और महिला समूहों के माध्यम से इनका निर्माण किया जा रहा है, क्षेत्र में भी महिलाओं को प्रशिक्षण देकर इसका निर्माण प्रारम्भ करने की कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि सहकारिता के क्षेत्र में 2600 करोड़ तथा आर्गेनिक के क्षेत्र में 1500 करोड़ की धनराशि भारत सरकार से प्राप्त हुई है जिसका सदुपयोग राज्य के विकास में किया जा रहा है।

उच्च शिक्षा मंत्री डा.धन सिंह रावत ने कहा कि पूरे देश में दीन दयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना के माध्यम से साढ़े छ हजार किसानों को ऋण वितरण कर उन्हें कृषि से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि दो प्रतिशत ब्याज पर एक-एक लाख की धनराशि कृषकों को ऋण के रूप में दी जा रही है। देवीधुरा में 11 करोड़ की लागत से राज्य का सबसे बेहतरीन विद्यालय तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा में 877 सहायक प्रोफेसरों की नियुक्ति 2 माह में की जायेगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार उतनी ही घोषणा करती है जितना पूरा किया जा सकता है।

इस अवसर पर विधायक लोहाघाट पूरन सिंह फत्र्याल, चम्पावत कैलाश गहतोड़ी, जिलाधिकारी डा.अहमद इकबाल, पुलिस अधीक्षक धीनेन्द्र सिंह गुंज्याल सहित जनता मौजूद थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here