उत्तरकाशी- वन विभाग ने किया खबर का खंडन, जलने से नहीं पेड़ के नीचे दबने से हुई बच्चों की मौत

उत्तरकाशी- उत्तरकाशी में आग के कारण तीन बच्चों की मौत की खबर का वन विभाग ने खंडन किया है. वन विभाग का कहना है कि बच्चों की मौत जंगल में लगी आग की चपेट में आने के कारण नहीं बल्की तेज आंधी-तूफान के कारण ऊपर पेड़ गिरने से हुई है.

वन विभाग ने सूचना का खंडन करते हुए कहा कि वाकई यह एक दुःखद घटना है और इस घटना पर अपनी संवेदना व्यक्त करते हैं। लेकिन अखबारों की गलत रिपोर्टिंग का विरोध करता है।

वन विभाग का कहना है कि जिस जगह यह घटना हुई है, उसके आस पास कोई आग नहीं लगी थी। बच्चों की मौत तेज आंधी चलने से गूजरों की झोपड़ी के ऊपर पेड़ गिरने का कारण हुई, झोपड़ी के अंदर चूल्हे में जो आग जल रही थी उससे झोपड़ी में आग लग गई, जिसके कारण बच्चों की मृत्यु हुई। आपदा विभाग द्वारा जो मौके की स्थिति के अनुसार रिपोर्ट तैयार की गई है, उसे संलग्न किया जा रहा है। वन विभाग ने रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि इस सूचना को संज्ञान में लेते हुए गलत रिपोर्ट का खंडन करें.

आपको बता दें मोरी ब्लॉक के भंकवाड गांव में तेज तूफान के चलते अचानक एक पेड़ गुजरों की बस्ती के ऊपर गिर गया। जिससे घर के अंदर बैठे चार बच्चे कमिया (3), यासीन (7) और मौहम्मद जैद (3) एवं जावेद (1) पेड़ नीचे दब गए थे। जिसमें तीन बच्चों की मौके पर मौत हो गई, जबकि एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं सूचना के बाद एसडीआरएफ, राजस्व व वन विभाग की टीम मौके के लिए रवाना हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here