कृषि अधिकारी से कही किसानों ने आपबीती

काशीपुर में आज मुरादाबाद रोड स्थित मंडी समिति के गेस्ट हाउस में किसान विकास क्लब की बैठक का आयोजन किया गया ।  इस बैठक में मुख्य अतिथि के तौर पर ज़िले के मुख्य कृषि अधिकारी अभय सक्सेना ने शिरकत की।
बैठक में  खेती- किसानी को बेहतर करने पर चर्चा हुई जबकि किसानों ने अधिकारी के सामने उन तकलीफों का जिक्र किया जो उनके सामने आ रही हैं।
इस मौके पर मुख्य कृषि अधिकारी अभय सक्सेना ने कहा कि आगामी 2022 तक कृषकों की आय दोगुना करने के लिए प्रयास चल रहा है।  इसके लिए कार्ययोजना बना ली गई है। जिसके तहत न्याय पंचायत स्तर पर हर सप्ताह एक चौपाल का आयोजन किया जाएगा। चौपाल में हर महकमा भागीदारी करेगा।
इस दौरान किसानों ने गन्ना भुगतान के सवाल को भी उठाया और किसान बीमा योजना के तहत लटके किसानों के नुकसान के मुआवजे को भी। जिस पर मुख्य कृषि अधिकारी ने कहा कि बकाया भुगतान की पिछली देनदारी में काफी हद तक कमी आयी है ।
बहीं किसानों ने कृषि अधिकारी के सामने धान की फसल के बकाया भुगतान का मसला भी उठाया। धान किसानो ने कहा कि धान कॉपरेटिव सेक्टर में 55 करोड़ का भुगतान होना था लेकिन अभी तक सिर्फ 20 करोड़ मिले हैं जबकि 35 करोड़ का भुगतान अभी बकाया है।
वहीं किसानों ने कहा कि प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को हुए नुकसान के मामले निपटाने की रफ्तार बेहद धीमी है। किसानों ने कहा कि खरीफ के सीजन में आखिरी वक्त में बरसात होने से हुए धान की फसल को काफी नुकसान हुआ।
किसानों ने कहा कि फसल बीमा योजना के तहत क्लेम किया लेकिन हाल ये है कि अभी भी 1300 से ज्यादा मामले पेंडिग पड़े हुए हैं। किसानों को अब तक मुआवजा नहीं मिला है। इस दौरान किसानों ने इलाकाई चीनी मिल बंद होने पर भी चिंता जताई !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here