जीरो टॉलरेंस: किसानों ने चकबंदी अधिकारी पर लगाया घूसखोरी का आरोप, बर्खास्तगी की मांग

रुड़की- एक तरफ राज्य और केंद्र की सरकारें किसानों के हितेषी होने के लाखों दावे कर रही है लेकिन सरकार द्वारा विभिन्न विभागों में बैठाए गए विभागी अधिकारी किसानों को लूटने का काम कर रहे है। इसी के चलते किसानों नें चकबंदी अधिकारी पर भष्ट्र होने का आरोप लगाते हुए बिजली विभाग के कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया औऱ विभागी अधिकारी की बर्खास्तगी की मांग की.

एक तरफ किसान कर्जा माफी की लड़ाई ही खत्म नही कर पाया था कि अब सरकारी दफ्तरों में कर्मचारी भी उन्हें लूटने का काम कर रहे हैं.

पूरा मामला हरिद्वार जिले के रुड़की का है जहां किसानों पर एक के बाद एक लगातार मुसीबत खड़ी होती जा रही है। जिसको लेकर किसान एक बार फिर धरना प्रदर्शन पर उतरे. किसानों ने  चंकबन्दी अधिकारी के खिलाफ नारेबाजी करते हुए चकबन्दी अधिकारी नेगी पर घूस लेने का आरोप लगाया है औऱ साथ ही लेकर जमीनों की अदला-बदली करने का भी आरोप लगाया है.

किसानों का कहना है कि अधिकारी की सेवाओं को 20 साल से भी ऊपर हो गया है जो लगातार घोटाले कर रहा है लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

वही प्रदर्शनकारी किसान नेता ने कहा कि किसानों की मांग है कि संबंधित अधिकारी को हटाया जाए और साथ ही उसकी आय की जांच भी की जाए.

देखने वाली बात ये होगी की जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली सरकार इस पर क्या ठोस कदम उठाती है और आरोप सही पाए जाने पर अधिकारी पर क्या कार्रवाई करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here