उत्तराखंड में बारिश का कहर, चमोली में बादल फटने से तबाही

देहरादून: उत्तराखंडके अलग-अलग हिस्सों में आंधी और बारिश ने अपना कहर बरपाया है। चमोली जिले के नारायणबगड़ में बादल फटने से कर्इ दुकानें और मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। हालांकि इसमें किसी के हताहत होने की कोर्इ खबर नहीं है। कुमाऊं में भी अंधड़ और बारिश ने कहर बरपाया है।

भारी बारिश के बाद अचानक फटा बादल 

चमोली जिले के नारायणबगड़ में भारी बारिश के बाद अचानक बादल फट गया। जिससे केवल तल्ला गदेरे से पानी के साथ भारी मात्रा में मलबा भी बहकर आ गया। इससे कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाइवे आधा घंटा बंद रहा। वहीं जीतसिंह मार्केट में हाइवे पर खड़े ट्रक, बोलेरो सहित पांच वाहन भी मलबे में दब गए। इतना ही नहीं, बादल फटने के बाद कर्इ दुकानों, अस्पताल और घरों में मलबा घुस गया साथ ही मकान क्षतिग्रस्त हो गए। घटना के बाद स्थानीय लोग खौफज़दा हैं और वह अपने घरों में जाने से डर रहे हैं। वहीं बादल फटने की सूचना पर स्थानीय प्रशासन और पुलिस मौके पर पहुंची और हाइवे पर यातायात सुचारू किया।

आपको बता दें कि इस क्षेत्र में 15 से अधिक भवनों पर खतरा मंडरा रहा है। बारिश के दौरान लोग घरों में रहने से डर रहे हैं। लोगों का कहना है कि अगर पानी निकासी नहीं की गर्इ तो यहां रहना खतरे से खाली नहीं है। पुलिस चौकी प्रभारी हेमंत सेमवाल ने बताया कि नाले का जलस्तर अब कम हो गया है और हाइवे पर यातायात भी सुचारू कर दिया गया है।

जिलाधिकारी आशीष जोशी ने कहा कि मौके पर रेस्क्यू टीम मौजूद है। उन्होंने बताया कि बारिश के दौरान नाला उफान पर आने से दुकानों में पानी मलबा घुसा था, अब स्थिति सामान्य है। उन्होंने ये भी बताया कि थराली के कूनी पार्था में ओलावृष्टि से एक खच्चर की मौत हुई है।

बदरीनाथ हाइवे मैठाणा में दो जगह करीब एक घंटे तक बंद रहा

बारिश के चलते बदरीनाथ हाइवे मैठाणा में दो जगह करीब एक घंटे तक बंद रहा। हाइवे बंद होने से यात्री वाहनों की लंबी कतार लगी। जिला अधिकारी के मौके पर पहुंचने के बाद एनएच विभाग ने जेसीबी मशीन लगाकर हाइवे पर यातायात सुचारू किया।

शाम को चली तेज आंधी के चलते देहरादून आने वाली और यहां से जाने वाली ट्रेनें भी प्रभावित हुईं। अंधड़ के चलते पेड़ गिरने से बिजली की लाइनें क्षतिग्रस्त हो गईं, जिस वजह से ट्रेनों का संचालन करीब 40 मिनट के लिए ठप रहा।

सोनकर के अनुसार दून आने वाली पैसेंजर ट्रेन और जन शताब्दी एक्सप्रेस, उपासना एक्सप्रेस भी तय समय से देर से दून पहुंची। वहीं, उन्होंने बताया कि मंगलवार को मुजफ्फरपुर से आने वाली राप्ती गंगा एक्सप्रेस बुधवार रात तक भी दून नहीं पहुंची थी। इस कारण ट्रेन को देर रात ढाई बजे के लिये रि-शेडयूल किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here