डीएम ने सुनाया सभी अफसरों और कर्मचारियों को साइकिल से दफ्तर आने का फरमान

शहर में बढ़ रहे वाहनों व उससे होने वाले प्रदूषण दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है जिससे अनेकों बिमारियां भी बढ़ रही है. इसी को देखते हुए चंपावत जिले के डीएम ने अनोखी पहल की है। डीएम ने जारी फरमान में कहा है कि मुख्यालय पर काम करने वाले अधिकारी व कर्मचारी साइकिल से दफ्तर आएंगे। केवल आवश्यक भ्रमण या फिर बीमार होने की स्थिति में ही वाहन का प्रयोग करने की छूट रहेगी। उन्होंने शनिवार को नो कार डे घोषित किया है।

पर्वतीय क्षेत्र में पेड़ों का कटान जहां तेजी से हो रहा है तो प्रदूषण की मात्रा भी तेजी से बढ़ी है। यही नहीं यातायात की समस्या भी इस कदर बढ़ गई है कि तमाम प्लानिंग के बाद भी इस पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है।

डीएम डॉ. अहमद इकबाल ने जारी किया आदेश 

बीते दिनों कलक्ट्रेट सभागार में हुई सड़क सुरक्षा कमेटी की बैठक में इस समस्या पर लंबी चर्चा चली। जिसमें अधिकारियों व आमजन ने कई सुझाव रखे। इन्हीं सुझावों को दृष्टिगत रखते हुए डीएम डॉ. अहमद इकबाल ने पर्यावरण संरक्षण, सेहत व यातायात समस्या का हवाला देते हुए आदेश जारी किया है।

जिसमें कहा है कि जिला मुख्यालय पर पूल्ड आवास समेत अन्य स्थानों पर रहने वाले अफसर अपने-अपने वाहनों को आवास पर ही छोड़कर साइकिल से ऑफिस जाएंगे। आवश्यक कार्य व भ्रमण के दौरान ही वाहन का प्रयोग करेंगे। अगर किसी की तबीयत खराब है या फिर चलने में असमर्थ है तो वह वाहन का प्रयोग कर सकता है। उन्होंने कहा कि शनिवार को नो कार डे रहेगा। जिसमें आवश्यक कार्य को छोड़कर अफसर-कर्मचारी वाहन का बिल्कुल भी प्रयोग नहीं करेंगे।

विभागीय मद से खरीदें साइकिल

डीएम डॉ. इकबाल ने बताया कि इसकी शुरूआत के लिए चार-पांच साइकिलें खरीदीं जाएंगी। अन्य विभाग अपनी मद से साइकिल खरीद लें तथा उसका अधिक से अधिक प्रयोग करें। अभी यह आदेश जिला मुख्यालय में लागू है इसके बाद तहसीलों में भी यह आदेश जारी कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here