बद्रीनाथ मंदिर है बदरूद्दीन शाह, मौलाना अब्दुल लतीफ का दावा

देहरादून/ सहारनपुर- उत्तराखंड के रक्षा अभियान दल के बयान उस बयान से दारूल उलूम निसवा खफा हो गया है। जिसमे उत्तराखंड रक्षा अभियान ने कहा था कि बद्रीनाथ में रहने वाले मुस्लिम को तभी वहां रहने की इजाजत दी जाएगी जब वे गंगाजल और गोमूत्र ग्रहण करें।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दारूल उलूम निसवा के मोहतमिम मौलाना अब्दुल लतीफ ने इस बयान पर न केवल कड़ा ऐतराज जताया है बल्कि श्रीबदरीनाथ धाम को मुस्लिम धार्मिक स्थान करार दिया है। लतीफ ने उत्तराखंड रक्षा अभियान दल को निहायत अनपढ़ संगठन बताते हुए कहा है कि लगता है संगठन में एक भी ऐसा शख्स नहीं है जिसने इतिहास पढ़ा हो या जिसे इतिहास की कोई जानकारी हो। अगर होती तो संगठन ऐसा गैरजिम्मेदारना बयान नहीं देता।

मौलाना अब्दुल लतीफ ने बद्रीनाथ धाम पर दावा करते हुए इसे बदरूद्दीन शाह करार दिया दिया है। मोहतमिम ने कहा है कि इतिहास इस बात का गवाह है कि बदरीनाथ बदरूद्दीनशाह है। इस नाते बद्रीनाथ मुस्लिमो का धार्मिक स्थान है और इसे मुस्लिमों के हवाले किया जाना चाहिए। लतीफ ने कहा  नाथ लगाने से कोई व्यक्ति या स्थान हिंदू नहीं हो जाता।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here