ऋषिकेश और कोटद्वार की नगरपालिकाओं का वजूद इस वजह से कभी भी हो सकता है खत्म !

देहरादून- उत्तराखंड सरकार किसी भी समय कोटद्वार-ऋषिकेश बोर्ड को भंग कर सकती है। दरअसल सरकार ने एक लाख की आबादी पार कर चुके कोटद्वार और ऋषिकेश नगर पालिकाओं को अपग्रेड करने का निर्णय लिया है। इसके बाद, इन पालिकाओं के बोर्ड का भंग होना पहले से ही तयशुदा माना जा रहा था।

ऐसे में नगर निगम बनने जा रहे कोटद्वार और ऋषिकेश नगर पालिका परिषद के निर्वाचित बोर्ड को सरकार अब किसी भी वक्त भंग कर सकती है। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक की माने तो एक्ट में ऐसा प्राविधान है। बताया जा रहा है कि  सरकार ने इस संबंध में विधिक राय समेत अन्य औपचारिकताओं को लगभग पूरा कर लिया है।इसके बाद, इन दोनों नगर निकायों की व्यवस्था के संचालन के लिए प्रशासकों की नियुक्ति कर दी जाएगी।

इन स्थितियों के बीच, सीमा विस्तार की प्रक्रिया से गुजर रहे नगर निकायों के बोर्डों के संबंध में अभी सरकार को विधिक राय प्राप्त नहीं हो पाई है। नगर निकाय के अगले वर्ष होने जा रहे चुनाव से पहले सरकार ने सीमा विस्तार और परिसीमन की बडे़ स्तर पर कार्रवाई शुरू की है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here